मैनिंजाइटिस का पता कैसे लगाया जाता है?